Sunday, December 2, 2018

विद्युत का संचालन power transmission

विद्युत संचारण का परिचय Introduction of power transmission

लगभग सभी कारखानों  में चाहे वह बड़े हो या छोटे मशीन प्रयोग की जाती है इन्हें चलाने के लिए पावर की आवश्यकता होती है मशीन को चलाने अर्थात उन्हें वांछित गति देने के लिए पावर  अलग अलग ढंग से दिया जाता है और मशीन या उसके भाग के चलाने के ढंग चाहे जैसे भी हो परंतु प्रारंभ में पावर घुरण ऊर्जा रोटरीन उर्जा के रूप में ही दी जाती है मशीन को यह प्रारंभिक पावर विद्युत मोटर से मिलती है इस मोटर का यह कार्य होता है कि विद्युत ऊर्जा को प्राप्त करके उसे घुरण ऊर्जा में बदल देती है जो कि घीर्णीयों व पट्टा चालन चेन चालन द्वारा मशीन तक प्रेषित कर दी जाती है।

संचारण के साधन

पूरी पट्टा ,रही,चेन ड्राइव,गीयर ड्राइव, तथा  घर्षण चालन,क्लच चालन आदि।

You can read my another blogs:-
Micrometers
Surface plate

Pulley Bolt rope and chain drive:- कारखानों में पावर या  घूर्णन गति रोटरी मूवमेंट का एक  शाफट दूसरे  शाफट तक संचालन रस्सी ,पट्टटा,  चेन या गीयर द्वारा किया जाता है पट्टा,रस्सी , चेन या गियर एक शाफट को दूसरे शाफट से जोड़ते हैं अतः इन्हेंं संयोजक  कहतेे हैं।रस्सी ,पट्टा द्वाार  पावर का  संचााााणर संयोजक व पुली के मध्य घर्ष्ष्ष्ष्षण के कारण होता है।
विद्युत या गति उपलब्ध होने वाले स्थान पर अलग-अलग तरह से चांदन के लिए एक अलग अलग तरीके हैं जिसमें विद्युत को संचालन किया जाता है। चालन दो प्रकार के होते हैं
1 सीधा पट्टा चालन
2 तिरछा पट्टा चालन

Vernier Calipers

Types of Belts:- 
  1. चमड़े की बेल्ट 
  2. कपड़े की बेल्ट
  3.  रबड़ का पट्टा 
  4. नायलॉन पट्टा 
  5. V पट्टा
पुली के प्रकार:- 
  • ठोस पुली
  •  स्प्लिट पुली
  • step Pulley 
  • V groove Pulley
  •  Chian or rope pulley
  •  loose and fast pulley
  • Jack pulley

https://www.bloggeryash.co.in

Thanks for reading this blog



No comments:

Post a Comment

Thanks for your advice and valuable time

Vice,first aid,