Wednesday, November 7, 2018

Counter sinking

काउंटर  सींकींग क्या है ( What is counter sinking) ? तथा counter Boaring क्या है? Spot facing से क्या अभिप्राय है?

counter sinking वह क्रिया है जिसके द्वारा पहले से बने छेद  के किनारों को शंकु आकार में बड़ा किया जाता है जिससे कि रिबेट तथा स्क्रु आदि का शंकु के आकार वाला भाग इस में समा सकें इस क्रिया में प्रयोग किए जाने वाले टूल्स को काउंटर सिंकिंग कटर कहते हैं जिसमें सेंक तथा कटर होते है। कटर पर करतधार होती है जो एक निश्चित कोण पर बनी होती है कटर के बिंदु कोण 30 डिग्री ,60 डिग्री, 90  तथा 120 डिग्री के हो सकते हैं इन औजारों पर पाईलट नहीं होता।

काउंटर बोरिंग क्या है?Counter Boring 

यह क्रिया ड्रिल मशीन के द्वारा किए गए छेद के सीरे को बड़ा करने के लिए भी की जाती है जिससे कि बोल्ट, हेड, स्क्रु तथा रीबेट शीर्ष समा सके इसमें काउंटर बोरिंग टूल का प्रयोग किया जाता है इस टूल के तीन भाग सेंक, वाटर तथा पायलट होते हैं सैंक से टूल को स्पाईंडल में पकड़ा जाता है व कटर करने की क्रिया करता है तथा पायलट बने हुए थे में उनको ग्राइंड करता है सामान्यतः पाइलेट को सेट स्क्रु द्वारा कटर पर लगाया जाता है इस प्रकार के बने हुए छेद के अनुसार एक ही कटर  पर  कई प्रकार के साइज के पाईलेट फिट किए जा सकते हैं।

What is Spot facing?

इस क्रिया के द्वारा किसी छेद के चारों तरफ की ऊपर सतह  समतल या चिकनी की जाती है जिससे कि नट, वाशर,  बोल्ट, या स्क्रु के सीरे के लिए शीट प्राप्त हो सके इस क्रिया की आवश्यकता रफ या ढीली हुई सतहों पर पड़ती है इस क्रिया में प्रयोग होने वाले औजार को स्थानिक फलकन  औजार कहते हैं कभी-कभी काउंटर बोरिंग टूल को भी सपोर्ट फेसींग क्रिया के  लिए प्रयोग किया जाता है।

Thanks for reading my blog and stay here
          


Happy Diwali
(Wish you a very happy Diwali)


No comments:

Post a Comment

Thanks for your advice and valuable time

Vice,first aid,